WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

गेहूं भाव में हल्की बढ़त, गेहूं के रेट कब बढ़ेगा?, जानें सप्ताहिक गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट

गेहूं के भाव में हल्की बढ़त, गेहूं के रेट कब बढ़ेगा?, जानें सप्ताहिक गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट

 

 

पिछले सप्ताह शुरूवात सोमवार दिल्ली गेहूँ-2640 रुपये पर खुला था ओर शनिवार शाम दिल्ली गेहूँ-2650/60 रुपये पर बंद हुआ, बीते सप्ताह के दौरान गेहूँ मे मांग बनी रहने से +20 रुपए प्रति क्विंटल की मजबूत दर्ज हुआ। बाजार ने पकड़ा पुनः तेजी की रफ़्तार। बाजार का फंडामेंटल इस साल भी मजबूत ही है।

 

राज्य अनुसार मार्केट ट्रेंड 

 

उत्तरप्रदेश: के वाराणसी में बाजार के भाव रहे स्थिर। उत्तरप्रदेश की फ्लौर मिलो में भी भाव स्थिर ही रहे। हरदोई में भी बाजार के भाव सप्ताह के आखरी में आकर स्थिर पर ही बंद हुए

 

गुजरात: के दाहोद में भी बाजार के भाव भाव इस सप्ताह 20 रूपए से कमजोर रहे। गुजरात अन्य बाजार जैसे राजकोट, अहमदाबाद और जूनागढ़ में भाव मजबूत ही रहे।

 

दिल्ली फ्लोर मिल: के भाव 50 रूपए से मजबूत रहे। 14 दिनों में 110 रूपए से मजबूत हुए है दिल्ली फ्लौर मिल के भाव। मिलर्स की आवश्यकता अनुसार उनको माल नहीं मिल रहा।

 

जिस वजह से भाव में मजबूती देखने को मिल रही है। बाजार में जब तक कोई आधिकारिक सूचना न आए तब तक बाजार में हिम्मत से डटे रहना चाहिए। मॉनसून अपनी रफ़्तार पकडे उसके पहले गेहूं अपनी तेजी की रफ़्तार में बना रहेगा।

 

यदि सरकार OMSS के तहत गेहूं वितरण में देरी करेगी तो मैदा के भाव में अच्छी तेजी देखने को मिलेगी। बाजार में कोई लेवाल नहीं उस दिन तक का इंतज़ार न करे समय समय पर प्रॉफिट भी बुक करते चले। किसानो के हाथ में गेहूं का स्टॉक अच्छी मात्र में है। कुछ बड़ी कंपनियों की जबरजस्त बाइंग चल रही है, यह कुछ नया होने का संकेत दे रही है।

 

दिल्ली लाइन

1. 2625 के उप्पर बाजार मजबूती के चाल में ही बना रहेगा।

2. 2675 के उप्पर बाजार एक तरफ़ा तेजी की लय पकड़ सकता है।

 

अंतरराष्ट्रीय समाचार (INTERNATIONAL NEWS)

 

माना जाता है की लेबनानी सरकार ने टेंडर में लगभग 63000 मीट्रिक टन गेहूं ख़रीदा है। जो सभी यूक्रेन से आने की उम्मीद है, यूरोपीय व्यापारियों ने गुरुवार को कहा।

 

अर्जेंटीना के रौसारियो आनाज एक्सचेंज ने बुधवार को सीजन के अपने पहले फसल अनुमान में आगामी 2024-25 गेहूं की फसल 21 मिलियन मीट्रिक टन होने का अनुमान लगाया।

 

खरीद (PROCUREMENT)

 

1. 15 JUNE के डाटा अनुसार गेहूं की कुल खरीद अब तक 2,65,39,095.40 टन हो चुकी है।

2. इस बार केवल मध्यप्रदेश से सरकार गेहूं खरीद में सफल नहीं रही।

3. पिछले साल इसी अवधि तक 260 लाख टन के करीब गेहूं खरीदे जा चुके थे जबकि इस वर्ष का आकड़ा पिछले साल से 5 लाख टन ज्यादा है।

4. सरकार को गेहूं मिलने की गति एक दम धीमी पड़ चुकी है, सरकार अब भी हर दिन 5 से 10 हाजिर मीट्रिक टन गेहूं खरीद रही है।

5. गेहूं खरीद का कुल आकड़ा इस बार 265-266 लाख टन में ही सिमट जाएगा।

 

स्टॉक

सेंट्रल पूल में गेहूं का कुल स्टॉक 299 लाख टन है। जो की पिछले साल की अवधि से 14 लाख टन कम है।*

 

गवर्नमेंट

1. सरकार का यह कहना है की देश में गेहूं का पर्याप्त स्टॉक मौजूद है और सरकार अभी इम्पोर्ट ड्यूटी हटाने को लेकर कोई विचार नहीं बना रही।

 

इसे भी पढ़ें 👉चना का भाव भविष्य 2024: चना भाव में उतार चढ़ाव जारी, जानें साप्ताहिक चना तेजी मंदी रिपोर्ट

इसे भी पढ़ें 👉 मोदी सरकार दे रही 50000 रुपए बिना गारंटी लोन, जाने आवेदन की पूरी प्रक्रिया

इसे भी पढ़ें 👉पीएम किसान योजना में बड़ा अपडेट, 17वीं किस्त इस तारीख को होगी जारी

 

नोट 👉  आज इस रिपोर्ट में आपने देखा गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट आगे और मौजूदा बाजार भाव (गेहूं के रेट कब बढ़ेगा)। किसी भी फसल में तेजी या मंदी आने वाले मौसम पर निर्भर करेगा। ऐसे में व्यापार अपने विवेक से करें। व्यापार में लाभ हानि के लिए आप खुद जिम्मेवार होंगे हम नहीं।

Leave a Comment