WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Millet Mission Scheme 2024: किसानों के लिए बाजरा, रागी और ज्वार की खेती करने पर सरकार दे रही ₹15000 तक सब्सिडी, जल्द उठाने लाभ

देखें किन-किन किसानों को इस योजना के तहत किसानों को Millet Mission Scheme 2024 में सब्सिडी प्राप्त होगी, जानने के लिए लिए जानते हैं पूरी जानकारी

हमारे देश में लगभग सभी तरह की खेती किया जाता है। बता दें कि हमारे देश में बहुत से ऐसी फसल जिनके पकने में अधिक पानी की आवश्यकता होती है। वहीं कुछ ऐसी फसल जिनमें पानी की आवश्यकता कम रहती है। या बारिश पर भी निर्भर है। लगातार कई राज्यों में पानी का स्तर गिर रहा है और इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा किसानों को अधिक पानी वाली फसलों को छोड़कर कम वाली फसल को उगाकर अधिक उत्पादन भी प्राप्त होगा और इसके पानी की कमी से बचाव होगा। जिसके लिए समय-समय पर सब्सिडी दिया जाता है।

मोटे अनाज के लिए मिलेट मिशन योजना (Millet Mission Scheme 2024)

धान की खेती में अधिक पानी की आवश्यकता होती है वहीं कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा भी धान की कम पानी में अधिक पैदावार जाने वाली किस्म को विकसित किया जा रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकार के द्वारा मोटे अनाज की खेती करने के लिए किसानों का रुझान बढ़े । इसके लिए किसानों को 15000 रुपए तक का सब्सिडी भी मिल रहा है इस Millet Mission Scheme 2024) सब्सिडी (Subsidy) के बारे में पूरी जानकारी के लिए आप इस रिपोर्ट को पूरा पढ़ें….

सरकार की ओर से दलहन और तिलहन की फसलों को उत्पादन को कैसे बढ़ाया जाए। इस पर हर वर्ष अपनी ओर से पूरे प्रयास कर रही है। वही मोटे अनाज के लिए किसानों का रुझान बढ़े इसके लिए भी मिलेट मिशन योजना को शुरू किया गया। बता दे किसानों के द्वारा ज्वार, बाजरा, रागी की फसलों की खेती मोटे अनाज के तौर पर कर सकते हैं। जिसके लिए प्रदेश सरकार की ओर से सब्सिडी दिया जारहा है।

किसानों को बाजरा, ज्वार आदि बीजों पर सब्सिडी

किसानों के लिए प्रदेश सरकार के द्वारा वर्ष 2024 25 में मिलेट मिशन योजना को आरंभ किया गया है। जिसके चलते किसानों को मोटे अनाज के तौर पर ज्वार, बाजरा, रागी, मडुआ, सॉवा, कोदो आदि कि अगर किसान अपने खेत में खेती करते हैं तो उनके लिए ₹3000 से लेकर 15000 रुपए तक का सब्सिडी मिलेगा।

 

बता दे सरकार के द्वारा दी जा रही इस सब्सिडी में मोटे अनाज की खेती करने पर कुल किए गए खर्च में से 30% तक का अनुदान मिलेगा और एक किसान कम से कम एक डिसमिल से अधिकतम 5 एकड़ का सब्सिडी प्राप्त कर सकता है। मिलने वाली राशि किसानों को उनके खाते में डाला जाएगा।

 

 

सब्सिडी के लिए कौन होंगे पात्र

मोटे आना आज के लिए चलाई जा रही इस योजना को झारखंड राज्य के द्वारा संचालित किया जा रहा है। बता दें कि इस योजना में किसानों को लाभ प्राप्त के लिए आवेदन मंगवाए गए हैं। और इस सब्सिडी के लिए केवल झारखंड राज्य के किसान ही पात्र होंगे।

 

 

 

योजना में जरूरी दस्तावेज कौन कौन से हैं

किसानों को मिले मिशन योजना में सब्सिडी प्राप्त करने के लिए कुछ जरूरी कागजात की आवश्यकता होगी। जो की निम्नलिखित इस प्रकार से है।

योजना में लाभ प्राप्त के लिए जो किसान आवेदन करेगा उनके पास ओरिजिनल आधार नंबर होना आवश्यक है। इसके साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भी होना चाहिए। आवेदन करने वाले किसान के पास बैंक पासबुक की कॉपी और जमीन के कागजात जरूरी है।

 

 

मिलेट मिशन योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

 

Millet Mission Scheme 2024: मिलेट मिशन योजना झारखंड में किसानों को आवेदन करने के लिए 30 अगस्त 2024 तक आवेदन करना होगा। जिसके लिए किसान प्रज्ञा केंद्रों के सहयोग से ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करें। किसान अगर इस योजना में और अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो अपने प्रखंड विकास अधिकारी, प्रखंड कृषि पदाधिकारी एवं प्रखंड तकनीकी प्रबंधक, सहायक तकनीकी प्रबंधक से संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें 👉राजस्थान प्रदेश के कई जिलों होगी भारी बारिश, जानें मौसम विभाग के अनुसार आज का मौसम कैसा रहेगा

इसे भी पढ़ें 👉 मध्य प्रदेश राज्य में मानसून पहुंचने से मौसम हुआ ठंडा, जाने मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार आज कहां होगी बारिश

इसे भी पढ़ें 👉धान की फसल में बकानी रोग के लिए क्या लगाएं? जानें रोकथाम कैसे करें

Leave a Comment